Search Engine कैसे काम करता है – Crawling, Indexing, Ranking की पूरी जानकारी

Search Engine कैसे काम करता है – बहुत सारे लोगों के मन में यह सवाल आते रहता है कि आखिर गूगल हमें कोई भी रिजल्ट कैसे दिखती है। इसीलिए आज हम जानने वाले है की एक सर्च इंजन कैसे काम करता है और आखिर यह क्रोलिंग, इंडेक्सिंग और रैंकिंग कैसे करती हैं उसके बारे में हमने पूरी जानकारी आपको दिए हैं तो कृपया इसे अंत तक पढ़े ताकि आपको पता चले की (How Search Engine Works – Crawling, Indexing & Ranking).
Search-Engine-कैसे-काम-करता-है,
Search Engine कैसे काम करता है – Crawling, Indexing, Ranking की पूरी जानकारी

Search Engine कैसे काम करता है – क्रॉलिंग, इंडेक्सिंग, रैंकिंग की पूरी जानकारी

अक्सर हमें यह सोचते Search Engine कैसे काम करता है अब बहुत से लोग यह समझते हैं की जब भी कोई  query google पर सर्च करते हैं तो गूगल हर वेबसाइट पर जाकर उस जानकारी ढूंढने लगता हैं परन्तु यह बिल्कुल ही गलत हैं क्योंकि सर्च इंजन ऐसे काम नहीं करता है।
सर्च इंजन मुख्यता तीन रूप से काम करता है सबसे पहले वह किसी वेब पेज को crawling करता है फिर उसके बाद indexing और उसके बाद Ranking करता हैं , तो चलिए बरिके से चीजों को समझते हैं की Search Engine के काम करने के तरीकों को इसे खासकर हमने SEO सीरीज के लिए बनाया हैं।

1. Search Engine Crawling

क्रॉलिग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें सर्च इंजन के बॉट्स या कहे Spider बहुत सारे वेबसाइट पर हमेशा घूमते रहते हैं और उनसे वेबसाइट कि जानकारी लेते रहते हैं। Spider को कंप्यूटर स्क्रिप्ट या कहे तो प्रोग्राम के मदद से बनाया जाता है।
जब भी कोई कंटेंट क्रिएटर कोई भी जानकारी अपने वेबसाइट पर देता हैं तो गूगल के क्रॉलर उनके वेबसाइट पर जाकर उस वेबसाइट में आए नए पेज स्कैन कर के यह पता करते हैं कि आखिर वो पोस्ट किस चीज के बारे में बताने की कोशिश कर रहे हैं।
साधारण भाषा में देखे तो क्रॉलर का काम किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट पर जब कोई जानकारी को अपडेट या कोई नयी जानकारी को जोड़ा जाता हैं तब सर्च इंजन का क्रॉलर उसे Scan कर के Web Page का Data ले लेता हैं।
Crawler Website को क्रॉल करते समय इसमें अनेक चीज को स्कैन करता हैं जैसे – Title, Meta Description, Page Layout, Links, URL, Image को Scan करता है। इंटरनेट पर कुछ इसे भी Page होते हैं जिन्हें सर्च इंजन क्रॉल नहीं कर सकता जैसे – Facebook या किसी भी अन्य Social Media में Lock Profile को Crawler स्कैन नहीं कर सकता है।
Search Engine उसे भी Crawl नहीं कर सकता जहां पर कोई जानकारी प्राप्त करने के लिए Password की जरूरत हो क्योंकी यह सब चीजें Dark Web के अंदर आती है। परंतु यह आपको इतना समझना जरूरी नहीं है बस मैंने आपको थोड़ी और जानकारी देने के लिए यह चीज बताया हैं।
पहले के Search Engine किसी दिए गए लिंक से Page को Crawl करते थे परन्तु बहुत सारी नई वेबसाइट होती थी। जिनका इंटरनेट पर कहीं लिंक नहीं था जिससे सर्च इंजन को उस Website की उपस्थिति का पता नहीं लग पाता था। इसलिए गूगल ने अपना Google Websmaster जिससे बाद में बदलकर Google Search Console Tool बनाया गया जिसके मदद से आप गूगल को यह बता सकते हो कि एक नया Website इंटरनेट पर आया है।
जिसके बाद Google अपने Crawler को भेजते है और उस नए Website को स्कैन करते हैं और Website से सारा Data के लेता हैं। अगर Google के अनुसार देखे तो उसके Bots हर एक सेकंड में 100 से 1000 Page को visit करता है और उनको Crawl करता है। अब चलिए आगे सर्च इंजन कैसे काम करता हैं क्योंकि सर्च इंजन का काम यही जाकर ख़त्म नहीं होता हैं।

2. Search Engine Indexing

Search Engine क्राॅलर के मदद से वेबसाइट की जानकारी लेने के बाद उसे Search Engine अपने Server में स्टोर करती हैं। अगर Server को आसान भाषा में देखे तो यहां पर बहुत ही ज्यादा Amount में data को स्टोर किया जाता हैं।
Crawler या कहे तो Spider द्वारा लिए गए जानकारी को स्टोर करना ही Index कहलता है और Index करने के पूरे प्रक्रिया को Indexing कहते हैं। Indexing के प्रक्रिया के दौरान database में अलग – अलग Category के हिसाब से Web Page को बांट दिया जाता है। जैसे – Technical Website को अलग वही Shopping Website को अलग ताकि Search Engine अपने User को Relevant Result से सके।
अब आपको बता दें Search Engine सभी Web Page को Index नहीं करता । यह बस उसी Website के Web Page को इंडेक्स करता है जहां इसे इजाज़त मिली होती है। अगर आपने Noindex Robot Tag का इस्तेमाल करते हैं तो आपकी Website की Web Page Index नहीं होगी।
आपको जानकर शायद हैरानी होगी की Google के Crawler प्रतिदिन लगभग 3 Trillion Page या कहे तो 3 लाख करोड़ Page को Crawl करता है। इस हिसाब से देखे तो Google के पास बहुत ज्यादा डाटा होता है। इसके वजह से हम Google को World का Library भी कहते हैं।

3. Search Engine Ranking

अब Search Engine ने बहुत सारे Web Page को स्कैन किया और इसमें से कई सारे ऐसे Web Page होती है जो एक समान जानकारी को अपने Website के Page पर शेयर करती हैं। इसलिए अब Search Engine की जिम्मेदारी होती है कि वह User को बेस्ट रिजल्ट लाकर दे इसलिए Search Engine ने कुछ Algorithm बनाया है जिसके मदद से किस Web Page को कौन सा Rank देना है यह पता चलता है।
अब Google Search Engine पर रैंक करने के लिए Google ने 200 Algorithm बनाया हैं। जिसके मदद से किस वेबसाइट को रैंक करना है यह गूगल को पता चलता हैं। कुछ अगर साधारण Algorithm की बात करे तो Keyword आपके Title, Meta Description, URL इत्यादि से मिलना चाहिए।
इन Search Engine के लिए रैंकिंग Algorithm को SEO कहते हैं। आपको बता दें Ranking के factor हमेशा एक समान नहीं होते यह समय के अनुसार Google के द्वारा बदल या Update कर दिया जाता हैं। अगर Search Engine अपने Ranking Algorithm को Update ना करे तो बहुत सारे इसका गलत इस्तेमाल कर के किसी भी Web page को गूगल पर Rank करवा सकते हैं।
क्योंकी लोग हमेशा Search Engine के Ranking Algorithm क्या हैं यह जानने की कोशिश करते रहते हैं इसलिए जरूरी है कि Search Engine अपने Ranking Factor को समय के अनुसार अपडेट करता रहे। अगर आपको Ranking के बारे में और जानकारी चाहिए तो आपको SEO का पूरा कोर्स करना होगा। इसमें आपको Ranking से संबंधित सारी जानकारी बताई जाती हैं।

निष्कर्ष

अब आपको पता चल गया होगा कि Search Engine कैसे काम करता है (How Search Engine Works – Crawling, Indexing & Ranking). आखिर एक सर्च इंजन में क्रोलिग, इंडेक्सिंग, रैंकिंग कैसे होता है।
 
अगर आपको जानकारी अच्छी लगी तो आप इसे अपने दोस्तो के पास भी शेयर कर सकते हो जिससे उनको भी पता चले की आखिर सर्च इंजन रिजल्ट कैसे देता हैं। धन्यवाद
FAQ 

 

 

1: Crawling क्या होता हैं?

Crawling एक ऐसी प्रक्रिया हैं| जिसमे  सर्च इंजन के Bots किसी वेब पेज को स्कैन कर यह पता करते हैं| की यह वेब पेज किस विषय के बारे में बनाया या लिखा गया हैं|

2: किस प्रकार के Website को Crawler क्रॉल नहीं कर सकता?

Crawler वैसे वेबसाइट या वेबपेजों को Crawl नहीं कर सकता जिसमे किसी प्रकार का पासवर्ड माँगा गया हो | साथ ही Crawler वैसे वेबसाइट को क्रॉल नहीं कर सकता जिस वेबसाइट में Crawler की अनुमति ना दी गयी हो |

नमस्कार दोस्तों मैं Sonu Kumar इस ब्लॉग का लेखक और मालिक हूँ | मैं अपने ब्लॉग पर Career, Job, Earn Money Tips, और लोगो के Success Story के ऊपर लेख लिखता हूँ,

Leave a Comment